Author Avatar

emprakashkumar

0

Share post:

कच्ची उम्र का पहला प्यार // A teenage love story

 मेरा नाम पूजा था मेरी उम्र 13 साल की और मैं स्कूल में 9वीं क्लास में पढ़ती थी मुझे किसी राज नाम के लड़के से प्यार हो जाता है मेरी जिंदगी का पहला प्यार था। और उस 13 साल की उम्र में मुझे ऐसे ख्याल कुछ अजीब सा महसूस कुछ इस तरह के सपने आते हैं जिनका मेरे पास कोई जवाब नहीं था जब मुझे राज़ से प्यार होता है तो राज मेरे साथ क्या करता है आ, आ, आ ……!!!!!!? मैंने कभी जिंदगी में नहीं सोचा था। 

“” मैं ना कुछ यूं ही जुलाई का था मैं अपने मम्मी पापा के साथ स्कूल में जाती हूं, और मेरे मम्मी पापा मेरा 9वीं क्लास में “admission” करवाते हैं उस दिन मेरी स्कूल का 9वीं क्लास का पहला दिन था और मैं मम्मी पापा के साथ ही घर आ जाती हूं और आते समय बाजार से मम्मी पापा मुझे एक साइकिल दिलवाते हैं “” 

” और शाम को मैं थोड़ी साइकिल को इधर उधर चलाते हैं फिर मैं मम्मी पापा के साथ खाना खाकर अपने कमरे में चले जाते हो मम्मी पापा बोलते हैं बेटा हूं आज स्कूल का तुम्हारा पहला दिन था आज़ जल्दी सो जाओ कल तुम्हें सुबह जल्दी उठना होगा स्कूल जाने के लिए। 

“मैंने कहा” – ठीक है मम्मी मैं अभी सो जाती हूं। 

” दूसरे दिन मैं सुबह जल्दी उठती हूं नहा धोकर तैयार हो जाती हूं मम्मी जल्दी से नाश्ता लगा देती है मैं नाश्ता करके अपना बैग लेकर और दूसरा दिन स्कूल का मैं साइकिल पर बैठकर स्कूल चली जाती हूं। स्कूल में सारे लड़के लड़कियां शोर मचाते हैं हंसी मजाक करते हैं स्कूल के दूसरे दिन मेरी एक नई सहेली भी बन जाती हैं जिनका नाम है प्रिया। 

” हम दोनों क्लास में एक टेबल पर बैठते थे तभी गणित के टीचर आते हैं कुछ पढ़ाते हैं और उसके बाद लंच का टाइम हो जाता है हम खाना वाना खा कर फिर थोड़ी पढ़ाई करते हैं फिर उस स्कूल की छुट्टी हो जाती है तब प्रिया अपने घर चले जाती हैं और मैं साइकिल पर बैठकर अपने घर के लिए जाती हूं मेरा घर स्कूल से 1 किलोमीटर की दूरी पर था।

” सभी रास्ते एक लड़का आता है मेरे रास्ते की आगे खड़ा हो जाता है तभी मैं साइकिल रोक देती हूं। 

” मेरे से बोलता ” – क्या तुम मेरे से बात करोगी लड़के ने जींस, टी शर्ट पहन रखी थी, एक काला चश्मा, यो यो हनी सिंह, की हेयर स्टाइल गले में गोल्डन किशन पहनी हुईं। 

” फिर मेरे से बोलता है :- हाय ! और ऐसा सीन मैंने पहली बार देखा मैं डर गई थी हाथ कांपने लगे मुझे पसीना आ गया और मैं उसे कुछ नहीं बोलती हूं पास से अपने घर चली जाती हूं। 

” जब मैं तीसरे दिन स्कूल जाती हूं प्रिया से मिलती हूं प्रिया तो बड़ी कुश्ती मैं उदास ही बैठी हुई वह सब सोच रही थीं 

“तभी प्रिया मेरे से बोलती” – पूजा इतनी उदास क्यों बैठी हो क्या बात है मैंने कुछ नहीं बताया फिर बोलते ठीक है आज स्कूल की छुट्टी होती मैं तेरे साथ में घर तक चलूंगी उसके बाद मैं अपने घर जाऊंगी और जब छुट्टी हो जाती है तब प्रिया मेरे साथ में हम दोनों के पास में साइकिल थी मेरे साथ में घर तक चलती है।

” तभी बीच रास्ते में वही कल वाला लड़का और मुझे देख कर साइकिल के आगे खड़ा हो जाता है तब प्रिया साथ में थी कल की तरह फिर से मेरे से बोलता हैं हाय !! फिर वह अपनी जेब से एक लिफाफा निकालता है और मुझे भी देता है बोलता है कि मैंने कुछ इसमें विशेष बात लिखी है इसको जरुर पढ़ लेना साथ में बोलता है कि मैं तुम्हारा इंतजार करता रहूंगा लेकिन मेरे साथ में प्रिया थी यह बोलती है कि लेटर को क्या करना है उस लड़के को बहुत ज्यादा गालियां निकालती हैं और वह लड़का डर से वहां से भाग जाता 24 थोड़ा आगे जाकर प्रिया मेरे से बोलती की पूजा ऐसे लड़कों से डरा मत किया कर यह लड़के लोग होते हैं और उनको उनकी तरह जवाब देना चाहिए तब मैं बोलती हूं प्रिया मुझे बहुत डर लगता है तुम यह सब कैसे कर लेती हो उसके बाद फिर मुझे घर पर छोड़ देती है और उसके बाद अपने घर चली जाती है लेकिन जब अगले दिन में सुबह उठकर स्कूल जाती हूं और छुट्टी का टाइम वापस आते समय प्रिया साथ में नहीं थी और मैं अकेली हूं स्कूल से घर जा रही थी और वही लड़का जिसका नाम राज था वह बीच रास्ते में फिर से आगे खड़ा हो गया बोलते हैं कि बस मुझे 10 मिनट दे दो मैं तुमसे कुछ बात करना चाहता हूं उसने मुझे अपनी जेब से एक पेपर निकाला बोले कि इसको याद रखिए पढ़ जरूर लेना मैंने ऊपर पर ले लिया फिर मैं अपने घर आ गई मैंने एकांत में बैठकर

                    ” Later ( पेपर ) पढ़ा ” 

” 

Birthday Wishes For Sister in English

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *